नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9817784493 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , अटल भूजल योजना पर बेहतरीन काम करने वाला हरियाणा सेकेण्ड जिम्मेदार राज्य बना -मुख्य सचिव संजीव कौशल ने बधाई देते अटल भू- जल योजना के तहत निर्धारित लक्ष्यों को निश्चित समयावधि में पूरा करने के निर्देश दिए – – समाज जागरण 24 टीवी

अटल भूजल योजना पर बेहतरीन काम करने वाला हरियाणा सेकेण्ड जिम्मेदार राज्य बना -मुख्य सचिव संजीव कौशल ने बधाई देते अटल भू- जल योजना के तहत निर्धारित लक्ष्यों को निश्चित समयावधि में पूरा करने के निर्देश दिए –

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

— समाज जागरण 24 tv .com –
       – कृष्ण राज अरुण –
चंडीगढ़, ( कंट्री एन्ड पॉलिटिक्स डेस्क ) हरियाणा को भारत का दुसरा राज्य बेहतरीन जल संरक्षण के लिए चुना गया है यह अच्छी खबर से सरकार के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने कहा कि जल शक्ति अभियान और अटल भू- जल योजना के तहत निर्धारित लक्ष्यों को निश्चित समयावधि में पूरा करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि इस वर्ष भी हरियाणा पिछले वर्ष की तरह टॉप परफॉमिंग स्टेट बनकर उभरे।
संजीव कौशल आज यहाँ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला उपायुक्तों के साथ जल शक्ति अभियान और अटल भू- जल योजना के क्रियान्वयन के संबंध में राज्य अंतर विभागीय संचालन समिति (एसआईएससी) की बैठक कर रहे थे। बैठक में अटल भू-जल योजना के तहत इस वर्ष की कार्य योजना को मंजूरी प्रदान की गई।
मुख्य सचिव कौशल ने सभी हरियाणा के सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश देते हुए कहा कि जल शक्ति अभियान के तहत इस वर्ष हरियाणा को पिछले वर्ष के मुकाबले 10 प्रतिशत अधिक लक्ष्य आवंटित किए गए हैं, इसलिए जिलों में सभी संबंधित विभागों के नोडल अधिकारी जमीनी स्तर पर आपसी तालमेल के साथ अल्पावधि के लक्ष्यों को पूरा करने पर जोर दें। बैठक में बताया गया कि इस योजना के तहत हरियाणा के कुल 14 जिलों को कवर किया जा रहा है। इसमें कुल 1669 ग्राम पंचायतों के साथ 36 भूजल दबाव वाले ब्लॉक शामिल हैं। प्रारंभ में प्रत्येक गांव की जल सुरक्षा योजना तैयार की जाएगी और आगामी वर्षों में इसे लागू किया जाएगा। भू-जल का स्तर दर्ज करने की दिशा में पीजोमीटर लगाए जाएंगे, इसके लिए पीजोमीटर की खरीद कर ली गई है। इसके अलावा, जल के पूर्ण सदुपयोग की योजनाएं भी तैयार की जाएंगी।
इसके अलावा, हरियाणा जल संसाधन (संरक्षण, विनियमन और प्रबंधन) प्राधिकरण (एचडब्ल्यूआरए) ने जून 2020 तक भू-जल स्तर तालिका की गहराई की स्थिति के आधार पर राज्य को सात जोन में वर्गीकृत किया है, जिससे भू-जल प्रबंधन और भू-जल स्तर में वृद्धि करने हेतु विभिन्न योजनाएं गाँव स्तर पर ही बनाई जा सकेंगी। बैठक में बताया गया कि सर्वप्रथम संस्थागत मजबूती और जल सुरक्षित राज्य की दिशा में जुड़े विभिन्न हितधारकों के क्षमता निर्माण पर जोर दिया जाएगा, ताकि सम्पूर्ण डाटा एक जगह उपलब्ध हो और उसके अनुरूप योजनाओं को अमल में लाया जा सके।

बैठक में बताया गया कि जल शक्ति मंत्रालय द्वारा मूल्यांकन किए जाने पर 2021 में हरियाणा शीर्ष प्रदर्शन करने वाले राज्यों में से एक था। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री ने जल शक्ति अभियानः कैच द रेन 2021” के दौरान हरियाणा द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की थी। इस वर्ष भी केन्द्र सरकार ने जल शक्ति अभियानः कैच द रेन‘‘-2022 को उसी जोश और उत्साह के साथ जारी रखने का निर्णय लिया है। इस अभियान का उद्देश्य पांच लक्ष्यों को रख कर किया गया है, जिसमें जल संरक्षण और वर्षा जल संचयन, पारंपरिक और अन्य जल निकायों का नवीनीकरण, पानी का पुनः उपयोग और संरचनाओं का पुनर्भरण,वाटरशेड विकास,गहन वनरोपण करना है।

बैठक में बताया गया कि अप्रैल माह तक हरियाणा मे वर्षा जल संचयन की 49,771 संरचनाएं, पारंपरिक जल निकायों का नवीनीकरण की 9533 संरचनाएं, पुनः उपयोग और पुनर्भरण की 26312 संरचनाएं, वाटरशेड विकास के घटक के तहत 7800 संरचनाएं, सघन वनरोपण परियोजना में 1,42,92,885 पेड़ लगाए गए हैं।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930