नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9817784493 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , उत्तराखंड में पर्यटन उद्योग के बढ़ने से -2027 तक पर्यटन व उद्योगों से मिलेंगे 20 लाख रोजगार – समाज जागरण 24 टीवी

उत्तराखंड में पर्यटन उद्योग के बढ़ने से -2027 तक पर्यटन व उद्योगों से मिलेंगे 20 लाख रोजगार

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

-कृष्ण राज अरुण –
कंट्री एन्ड पॉलिटिक्स –
SAMAJJAGRAN24TV.COM
नई दिल्ली /देहरादून –
उत्तराखंड में पर्यटन क्षेत्र की उपलब्धि पूर्ण बनाने में राज्य की आर्थिकी में 10 बिलियन अमेरिकन डॉलर वार्षिक और राज्य के सकल घरेलू उत्पाद का कम से कम 15 प्रतिशत योगदान का लक्ष्य रखा गया है। बतला देंकि राज्य में पर्यटन उद्योग के बढ़ने से प्रदेश में वर्ष 2027 तक पर्यटन व इसके सहायक उद्योगों से 20 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।
प्रदेश में

निखरते नेतत्व के धनी -मुख्यमंत्री पी एस धामी

पर्यटन क्षेत्र में 30 हजार करोड़ निवेश का लक्ष्य रखते हुए काम किया जा रहा है। दूसरी ओर वेड इन इंडिया के तहत वेडिंग डेस्टिनेशन विकसित करने के लिए 150 करोड़ का निवेश हो चुका है। –
पीएम मोदी प्रोत्साहन -वेड इन इंडिया- की दिशा में बढ़ा उत्तराखंड-
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक निवेशक सम्मेलन में राज्य में वेड इन इंडिया को प्रोत्साहन देने का सुझाव दिया था। इसके लिए वेडिंग डेस्टिनेशन पर अब तक 150 करोड़ का निवेश हो चुका है, आने वाले समय में यह और बढ़ेगा।
पर्यटन निति निर्माण में 2027 तक 30 हजार करोड़ निवेश और 70 पीपीपी परियोजनाओं पर काम शुरू कर दिया गया है। राज्य में पर्यटन और सहायक उद्योगों में कम से कम 30 प्रतिशत महिलाओं की सहभागिता सुनिश्चित करते हुए 20 लाख रोजगार सृजन होगा। पर्यटन व इसके सहायक उद्योगों में 10 लाख कामगारों का कौशल विकास किया जाएगा। वेड इन इंडिया का एक खास मतलब यह भी है की ऐसे में ‘मेक इन इंडिया ‘के तर्ज पर पीएम मोदी ने ‘वेड इन इंडिया’ को बढ़ावा देने की बात कही है. उन्होंने लोगों से विदेशों के बजाय भारत में ही शादी करने को कहा है, जिससे भारत का पैसा बाहर न जाए और लोकल बिजनेस को भी बढ़ावा मिले।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हर साल 5,000 से अधिक भारतीय जोड़े विदेशों में शादी करते हैं. इनमें करीब 75,000 करोड़ से लेकर 1 लाख करोड़ रुपये तक खर्च होने का अनुमान है. ऐसे में अगर यह डेस्टिनेशन वेडिंग भारत की ही प्रसिद्ध जगहों पर हों तो इससे पैसा देश में ही रहेगा. इसके साथ ही लोकल व्यापारियों का भी जमकर फायदा होगा. CAIT ने भारत के डेस्टिनेशन वेडिंग सेंटर के बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि देश में 100 से अधिक ऐसी टूरिस्ट और धार्मिक स्थान हैं. ये लोगों के बीच प्रसिद्ध हैं.
सड़कें होंगी चक्कचकाचक लोकसभा चुनाव से ठीक पहले –
केंद्र सरकार ने केंद्रीय सड़क अवस्थापना निधि के तहत राज्य की 439 सड़कों के लिए 259 करोड़ रुपये की धनराशि मंजूर की है। इस धनराशि से प्रस्तावित सड़कों का नवीनीकरण, सुदृढ़ीकरण एवं सुरक्षात्मक कार्य होंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का विशेष आभार व्यक्त किया है। सीआरआईएफ के तहत मंजूर सड़कों में पौड़ी लोकसभा क्षेत्र की 164 किमी की सात, अल्मोड़ा में 180 किमी की चार तथा टिहरी की 65 किमी की एक एवं नैनीताल की 30 किमी की एक सड़क शामिल है। 
वेड इन इंडिया का एक खास मतलब यह भी है की ऐसे में ‘मेक इन इंडिया ‘के तर्ज पर पीएम मोदी ने ‘वेड इन इंडिया’ को बढ़ावा देने की बात कही है. उन्होंने लोगों से विदेशों के बजाय भारत में ही शादी करने को कहा है, जिससे भारत का पैसा बाहर न जाए और लोकल बिजने स को भी बढ़ावा मिले.

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930