नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9817784493 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , आम लोग तो हुए बेहद परेशान – किसान आंदोलन के कारण कई दिनों से सड़कों पर फंसे ट्रक चालकों के लिए भी मुसीबत- – समाज जागरण 24 टीवी

आम लोग तो हुए बेहद परेशान – किसान आंदोलन के कारण कई दिनों से सड़कों पर फंसे ट्रक चालकों के लिए भी मुसीबत-

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

समाज जागरण 24 tv – ब्यूरो
चंडीगढ़ – किसान आंदोलन के कारण आम जनजीवन परेशान होता जा रहा है जिससे अब आवागमन करने वाले लोग लम्बे यात्रा के कारण भी परेशान दीखते नजर आये हैं यहांतक कि सड़कों पर फंसे ट्रक चालकों के लिए भी मुसीबत बढ़ने लगी है। ट्रक चालकों को कहते पाया गया हैंकि उनके तो खाने तक के लाले पड़ रहे हैं, क्योंकि इन ट्रक चालकों के पास कैश खत्म होता जा रहा है और तोई और इंटरनेट बंद होने की वजह से वह ऑनलाइन भुगतान भी नहीं कर पा रहे हैं। यही नहीं कुछ ट्रकों में लोड सामान भी खराब होने की कगार पर है।

बड़ी परेशानी इंटरनेट के बंद होने से लोगों को झेलनी पड़ रही
अम्बाला शहर के देवीनगर पेट्रोल पंप के पास अंबाला-राजपुरा हाइवे किनारे कई ट्रक सड़क पर अटके खड़े हैं। यहां एक ट्रक तीन दिनों से अटका हुआ है। जिसमें 20 हजार

कई दिनों से सड़कों पर फंसे ट्रक चालकों के लिए भी मुसीबत-
कई दिनों से सड़कों पर फंसे ट्रक चालकों के लिए भी मुसीबत-

लीटर दूध लोड है। यह दूध खराब होने की कगार पर है। इसी तरह अंबाला-हिसार बायपास पर भी गुजरात, पश्चिमी बंगाल, मुंबई, राजस्थान से आने वाले कई ट्रक अटके हुए हैं। इन ट्रकों को पंजाब जाना है। यह ट्रक यहां तीन से चार दिन से अटके हुए हैं। जिससे उनको परेशानी झेलनी

पड़ रही है।

20 हजार लीटर दूध लोड है। यह दूध खराब होने की कगार पर-
चालकों की मानें तो सामान लेकर चले लोग वाहन अम्बाला है हाइवे में अटके हैं अंबाला आसपास् आ गए थे, उसके बाद से ही यहां अटके हुए हैं। उनका कैश भी खत्म हो रहा है। जिससे खाने-पीने में दिक्कत आ रही है। वह खुद ही खाना बनाकर खा रहे हैं। इसी तरह कुछ ट्रक चालक ने बतायाकि वह 10 फरवरी की रात को अंबाला शहर में पहुंच गए थे।वह पश्चिमी बंगाल से लुधियाना में बीड़ी से भरा ट्रक लेकर जा रहे हैं। उनको खाना बनाने के लिए सामान खरीदकर लाना पड़ा। चार दिन से यही खाना बनाकर खा रहे हैं। ट्रक चालक राजू ने बताया कि वह छत्तीसगढ़ से लुधियाना के लिए खाने का सामान लेकर चले हुए हैं। 9 फरवरी से यहां पर अटके हुए हैं। वह नमकीन-बिस्कुट के साथ पानी पीकर गुजारा कर रहे हैं। हाइवे पर आसपास कोई खाने की व्यवस्था भी नहीं है।
ये आंदोलन कैसा जिसमे लोग मुसीबत और भुखमरी झेलें – सरकार और आंदोलनकारियों को अपनी मांग को मनवाने के सही तरिके ईजाद करने चाहिए जिद्द से किसी का भला नहीं हो सकता।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930