नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9817784493 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , बारिस में ऐसे पौधे लगाएं घर की गमले सज्जित वाटिका में जो वास्तु दोष मुक्त रोग मुक्त बनाएं घर की सज्जा चमकाए – – समाज जागरण 24 टीवी

बारिस में ऐसे पौधे लगाएं घर की गमले सज्जित वाटिका में जो वास्तु दोष मुक्त रोग मुक्त बनाएं घर की सज्जा चमकाए –

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

– समाज जागरण 24tv
-कृष्ण राज अरुण –
मित्रो,
संकटकाल स्थिति रोग उत्तपन्न करती है जब स्वछता का आभाव हो – यदि प्रकृति ने कस्ट दिया है कारणों को लेकर तो सेहत सुरक्षाःओसधियाँ भी दी हैं।
समाज जागरण कई खोज अपने दर्शकों के लिए ऐसे उपहार की खोज में महारत है। क्योंकि हम मिशन जनकल्याण चेतना प्रयास में समर्पित हैं। गुलज़ारीलाल नंदा फाउंडेशन इस कदम की संजीवनी है।
मानसून की बूंदा-बांदी ताज़ा महक के साथ-साथ पेड़ पौधों के लिए हरियाली भी लाती है। वर्षा ऋतु आमतौर पर जुलाई के महीने से शुरू हो जाती है। गार्डनिंग के शौकीन लोगों के लिए मानसून साल का सबसे अच्छा समय होता है क्योंकि गार्डनिंग शुरू करने का यही सबसे सही समय होता है इस मौसम में अनेक प्रकार के पौधे अपने होम गार्डन में लगाए जा सकते हैं जैसे फलों, फूलों के पौधे, सब्जियां, हर्ब्स व सजावटी प्लांट्स आदि।
–वर्षा ऋतु में गार्डन में लगाई

प्रत्येक पौधे के अनुसार चुनें, और केवल उसी गमले में पौधों को लगाएं, जो पौधे की अनुकूल वृद्धि के लिए आवश्यक हो।

जाने वाली जड़ी बूटियाँ- कई लाभ देगी
अब हम यहाँ बारिश के मौसम में उगने वाले विभिन्न प्रकार के पौधों के नाम जानेगें जो रैनी सीजन गार्डनिंग शुरू करने के लिए अच्छी तरह से ग्रो किये जा सकते हैं।
फलों का गार्डन देखने में काफी आकर्षक लगता है, जिसे शुरुआती बरसात के मौसम में तैयार किया जा सकता है, इसीलिए अगर आप भी बरसात के मौसम में अपने घर पर फलों के पेड़ उगाना चाहते हैं तो आप आगे बताए गए फलों के पौधों को गमले या ग्रो बैग में आसानी से लगा सकते हैं।
गेंदा फूल (Marigold)
बालसम फूल (Balsam flower)
सूरजमुखी फूल (Sunflower)
कॉसमॉस फ्लावर प्लांट (Cosmos flower)
कॉक्सकॉम्ब या सेलोसिया प्लांट (Cockscomb flower)
ज़िन्निया फूल (Zinnia flower)
साल्विया फ्लावर (Salvia flower)
क्लियोम फूल (cleome flower)
एजीरेटम या एजरेटम फ्लावर प्लांट (Ageratum flower)
पोर्टुलाका फ्लावर (Portulaca flower)
मोगरा फूल (Mogra)
गुड़हल के फूल (Hibiscus)
बोगनविलिया प्लांट (Bougainvillea)
अडेनियम फ्लावर प्लांट (Adenium plant)
लैंटाना के फूल (Lantana flower)
सदाबहार (periwinkle flower)
कनेर का पौधा (Oleander flower)
रेन लिली फ्लावर प्लांट (Rain lily)
प्लुमेरिया या चंपा फूल (Plumeria flower)
चमेली (Jasmine flower)

(गमले में सफलतापूर्वक जड़ी बूटी उगाने की टिप्स)
गमले या ग्रो बैग में हर्ब उगाने का एक फायदा यह है कि, आप उन्हें उठा सकते हैं, स्थानांतरित कर सकते हैं और पुनर्व्यवस्थित कर सकते हैं, ताकि जड़ी बूटियों को बढ़ने के लिए पूरे वर्ष अनुकूल परिस्थितियां प्रदान की जा सकें। इसके अलावा, आप गमले या ग्रो बैग के साइज़ को प्रत्येक पौधे के अनुसार चुनें, और केवल उसी गमले में पौधों को लगाएं, जो पौधे की अनुकूल वृद्धि के लिए आवश्यक हो।

चाहे आप गमलों में सब्जियां, फूल, या जड़ी-बूटियाँ उगा रहे हों, आपको इन्हें उगाने में सफलता प्राप्त करने के लिए पर्याप्त जल निकासी वाले गमलों या ग्रो बैग्स का उपयोग करना होगा। अधिकांश गमले या ग्रो बैग में जल निकासी छेद पहले से ही पाए जाते हैं।

कंटेनर, गमले या ग्रो बैग में जड़ी बूटी के सफलतापूर्वक उत्पादन के लिए, उच्च गुणवत्ता वाली मिट्टी या पॉटिंग मिक्स का उपयोग करना चाहिए। पॉटिंग मिक्स या मिट्टी, गार्डन की मिट्टी की तुलना में हल्की और कम घनत्व वाली होती है और कार्बनिक पदार्थों से समृद्ध होती है। इसके अलावा अच्छी तरह से तैयार की गई पॉटिंग मिट्टी बेहतर जल निकासी के साथ-साथ नमी बनाए रखने के लिए आदर्श होती है। अतः इन सभी गुणों से परिपूर्ण गमले की मिट्टी में हर्ब्स (जड़ी बूटी) का उत्पादन अच्छी तरह से होता है।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930